रोचक खबरे

यहाँ के लोगों ने निकाला अनोखा जुगाड़, प्लास्टिक की बोतलों से बना रहे है अपना घर…

यहाँ के लोगों ने निकाला अनोखा जुगाड़, प्लास्टिक की बोतलों से बना रहे है अपना घर…

इंटरनेट डेस्क। आज हम आपको ऐसी बात बताने जा रहे है जिसके बारे में आपने कभी सोचा भी नहीं होगा। दरअसल, यह बात हम सभी जानते है कि प्राचीन समय से ही लोग अपने घरों को मजबूत बनाने की कई तरह से कोशिश करते आ रहे हैं। चाहे फिर बात सीमेंट लगाने की हो या फिर मोटे सरिये की। लोगों की बस एक ही इच्छा रहती है कि बड़े से बड़ा भूकंप भी उनके घर को हिला ना पाए। लेकिन फिर भी आए दिन भूकंप से घर की छत आदि गिरने की खबरें आती रहती हैं। लेकिन नाइजीरिया के कुछ लोगों ने इसका एक अनोखा जुगाड़ निकाल लिया है।

loading...

बता दे, यहां के लोग प्लास्टिक की बोतलों में मिट्टी भरकर अपने घर बना रहे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि 7.3 की तीव्रता का भूकंप भी इन घरों को हिला नहीं सकता। एक घर को बनाने में करीब 3.5 लाख रुपये तक खर्च हो जाते हैं। इस देश में बीते 10 सालों से बेरोजगारी लगतार बढ़ रही है। ऐसे में युवाओं ने प्लास्टिक के निपटान और रोजगार का ये तरीका निकाला है। यहां के लोग इस तरीके से पानी की टंकी तक बना रहे हैं। इन घरों को बनाने का तरीका लगभग वैसा ही है जैसे ईंट, सीमेंट और गिट्टी के घर बनाये जाते हैं। ये प्रक्रिया न केवल पर्यावरण के अनुकूल है बल्कि सस्ती भी है।

इन घरों को बनाने के लिए पहले बोतलों को एक के ऊपर एक रखकर चुनाई की जाती है, फिर इनको रस्सी से बांध दिया जता है। क्वाड्रो इको सॉल्यूशंस कंपनी के सीईओ रेमोन मार्टिन का कहना है कि 600 वर्ग फीट का घर बनाने में करीब साढ़े तीन लाख रुपये का खर्च आता है। यहां युवाओं को इस काम से रोजगार मिल रहा है। यहां की कुल आबादी 19 करोड़ है और प्लास्टिक की बोतलें बड़ी बाधा हैं। इस देश से हर साल 3.2 टन कचरा निकलता है।

यह अभिनेत्री कर चुकी है 100 से ज्यादा फिल्मों में अभिनय, देखें: Photos
इस मंदिर में झाडू चढ़ाने से ठीक हो जाता है त्वचा रोग, जानिए कहा है ये मंदिर
यहाँ की महिलाएं हर साल तीन महीने के लिए क्यों बन जाती हैं विधवा ? जानिए
इंसान ही नहीं यहाँ की ‘भैंसे’ भी करती है नशा, वजह जानकर उड़ जायेंगे होश…

164 views
loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 5 =

To Top