रोचक खबरे

OMG: इस हवेली में सोने से डरते है गार्ड्स, सच्चाई जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

Thursday, October 12, 2017 05:36:24 PM
OMG: इस हवेली में सोने से डरते है गार्ड्स, सच्चाई जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

रोचक डेस्क। अक्सर आपने कई बार गार्ड्स का ड्यूटी के दौरान सोते हुए देखा होगा। परन्तु आज हम आपको एक ऐसी हवेली के बारे में बताने जा रहे है जहां अगर नींद की झपकी आ जाये तो बहुत खतरनाक सजा दी जाती हैं। कई बार ऐसा होता हैं जब सुरक्षा गार्ड अपनी ड्यूटी के समय पर सो जाते हैं और शिकायत करने के बावजूद उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता हैं। परन्तु आज हम जिस स्थान के बारे में आपको बताने जा रहे हैं वहां पर सोने पर ऐसी सजा मिलती हैं कि वह व्यक्ति दोबारा सोने की हिम्मत नहीं करता है। यह सजाएँ कुछ ऐसी होती हैं कि उसका एहसास कई दिन तक होता रहता हैं। सोने पर सजा मिलने वाले इस स्थान का नाम हैं बृजराज भवन है।

 

अपने ही दोस्तों का मांस खाकर ढाई माह तक जिंदा रहे थे खिलाड़ी, खबर पढक़र आपकी आंखों से आ जाएंगे आंसू

 

Image result for बृजराज भवन कोटा

 

ये भवन राजस्थान कोटा नगरी में स्थित हैं। सत्य में इस भवन में कुछ इस प्रकार की घटनाएं घटती होती रहती हैं कि यहां पर ड्यूटी करने वाले सुरक्षा गार्ड सोना तो दूर नींद की झपकी लेने से भी डरते हैं। कहा जाता हैं कि अगर रात की ड्यूटी में कोई सुरक्षा गार्ड सो जाता हैं तो अचानक से उसे थप्पड़ पडऩे लगते हैं। थप्पड़ कौन मारता हैं इसका पता आज तक नहीं चल पाया है। इस बारे में लोगों ने अपने अपने तर्क सामने रखे हैं। कुछ लोगों का मानना हैं कि यहां बृजराज भवन में ब्रिटिश मेजर की आत्मा भटकती रहती हैं। वह इस भवन की पहरेदारी करती हैं। इस आत्मा को ड्यूटी के समय सोते हुए लोग अच्छे नहीं लगते हैं इसलिए यह आत्मा सोने वाले गाड्र्स को सबक सिखाती है।

 

पीरियड्स से जुड़़ी इन प्रथाओं के बारे में जानकर रूह कांप जाएंगी आपकी?

 

 

लोगों ने बताया कि 1857 के विद्रोह के समय इस बिल्डिंग में मेजर चार्ल्स बुर्टन रहता था। उसके साथ उसके 2 बेटे भी थे। विद्रोहियों ने जब इस भवन पर आक्रमण किया तो मेजर चार्ल्स ने काफी वक्त तक उनका मुकाबला किया पर आखिरकार में विद्रोही जीत गए और उन्होंने मेजर को मार दिया। माना जाता हैं कि तभी से उसकी आत्मा इस भवन में भटक रही हैं। कहा जाता हैं कि यहां पर काम करने वाले कुछ लोगों ने उस मेजर की आवाजे भी सुनी हैं।

924 views
loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top