रोचक खबरे

जातक की कुड़ली में शुभ और अशुभ प्रभाव डालता है विषयोग

Wednesday, July 4, 2018 06:16:26 PM
जातक की कुड़ली में शुभ और अशुभ प्रभाव डालता है विषयोग

ज्योतिष डेस्क। जातक की कुंडली में कई प्रकार के योग होते है, इन्हीं योगों में से कुछ योग शुभ और कुछ अशुभ माने जाते है। यदि जातक की कुंडली में शुभ योग हों तो इससे उसका जीवन सुखपूर्वक व्यतीत होता है वहीं कुंडली के अशुभ योग जातक के जीवन में अनेक प्रकार की परेशानियों का कारण बन जाते हैं। आइए दोस्तों आज हम आपको बताते है विष योग के बारे में, यदि जातक की कुंडली में विष योग हो तो इससे जातक को क्या परेशानियां उठानी पड़ती हैं।

Image result for कुंडली

ज्योतिष के अनुसार विष योग को अशुभ योग बताया गया है, यदि किसी की कुंडली में विष योग होता है तो जातक को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आइए आपको बताते हैं कुंडली में विष योग होने पर जातक को किन-किन परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

(1) जिनकी कुंडली में शनि और चन्द्र की युति प्रथम भाव में होती है वह व्यक्ति विष योग के प्रभाव से अक्सर बीमार रहता है। व्यक्ति के पारिवारिक जीवन में भी परेशानी आती रहती है।

(2) जिन जातकों की कुंडली में विष योग होता है ऐसे जातक शंकालु और वहमी प्रकृति के होते हैं।

(3) जिस जातक की कुंडली में द्वितीय भाव में योग होता है उसे पैतृक सम्पत्ति से सुख नहीं मिलता है। इन्हें नौकरी एवं कारोबार में रूकावट और बाधाओं का सामना करना पड़ता है।

(4) यह विष योग दाम्पत्य जीवन में संकट खड़े कर देता है, कुंडली में विष योग होने पर पति पत्नी में से कोई एक अक्सर बीमार रहता है।

(5) यदि इसके प्रभाव को कम करना है तो भगवान शंकर की पूजा एवं महामृत्युजय मंत्र जप करना होगा।

 

नोट: इस ज्योतिष आर्टिकल में जातक कुंडली के ग्रहों के आधार पर राशिफल और आपने जीवन में घटित हो रही घटनाओं में भिन्नता हो सकती है। पूरी जानकारी के लिए कृपया किसी ज्योतिष पंडि़त से संपर्क करें।

दूध के ये चमत्कारी टोटके, दूर करते है सभी दुख

इन तिथियों को भूलकर भी ना तोड़ें बेलपत्र, वरना भौलेनाथ कर देंगे बर्बाद

सोमवार का व्रत करने से भगवान शिव होते है खुश, हर मनोकामनाएं करते है पूरी

Source: Google

980 views
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 + twenty =

To Top