रोचक खबरे

युवराज सिंह के करियर के वो 5 बड़े पल जिन्हें भारतीय क्रिकेट प्रेमी कभी भुला नहीं सकते

युवराज सिंह के करियर के वो 5 बड़े पल जिन्हें भारतीय क्रिकेट प्रेमी कभी भुला नहीं सकते

भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह ने अनेकों बार अपनी बल्लेबाजी से भारतीय क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीता है. युवराज सिंह के सन्यास के बाद हम आपको युवराज के करियर के उन पलों के बारे में बता रहे हैं जिन पलों को भारतीय क्रिकेट प्रेमी कभी भुला नहीं सकते.

नेटवेस्ट सीरीज, 2002 : 2002 में नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में युवराज सिंह ने मोहम्मद कैफ के साथ महत्वपूर्ण साझेदारी करते हुए भारत को जीत दिलाई थी. इस जीत के बाद कैफ और युवराज दोनों ही भारतीय क्रिकेट जगत के हीरो बन चुके थे.

loading...

टी-20 विश्व कप, 2007 : 2007 के टी-20 विश्व कप में युवराज सिंह ने स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में लगातार 6 छक्के जड़कर एक सिक्सर किंग के रूप में अपनी पहचान बना ली थी.

विश्व कप, 2011 : 2011 विश्व कप में युवराज सिंह ने अपनी तूफानी पारियों से भारतीय टीम को जीत जीत दिलाने के बाद मैन ऑफ सीरीज अवॉर्ड के साथ ही करोड़ों क्रिकेट प्रेमियों का दिल भी जीता था.

भारत बनाम न्यूज़ीलैंड, 2012 : 2012 में युवराज सिंह कैंसर पर विजय पाने के बाद न्यूज़ीलैंड के खिलाफ मैदान पर उतरे थे. युवराज ने इस मैच में 26 गेंदों पर 34 रनों की पारी खेली थी.

भारत बनाम इंग्लैंड, 2017 : 2017 में जब लोगों का लगने लगा था कि अब युवराज सिंह का करियर खत्म हो चुका है तब युवराज सिंह ने इंग्लैंड के खिलाफ अपने करियर की सबसे बड़ी पारी खेल डाली थी. युवराज ने इस पारी में 150 रन बनाए थे.

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक ज़रूर करें, साथ ही आप अपने विचार हमें कमेंट करके बता सकते हैं. क्रिकेट से जुड़ी ऐसी ही दिलचस्प ख़बरों के लिए फॉलो का बटन दबाएं.

172 views
loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve + 12 =

To Top