अन्य

20 नवंबर: एक क्लिक पर पढि़ए आज की 5 रोचक खबरें

Monday, November 20, 2017 07:33:22 PM
20 नवंबर: एक क्लिक पर पढि़ए आज की 5 रोचक खबरें

रोचक डेस्क। अक्सर कुछ रोचक घटनाएं चर्चा का विषय बन जाती है। इस तरह की घटनाओं से जुड़े लोग अपने होश गंवा बैठते है, साथ ही जिन लोगों को इन घटनाओं के बारे में पता चलता है वह भी आश्चर्यचकित हो जाते है। चलिए आज आपको एक ऐसी ही रोचक घटना के बारे में बताते है।

 

39 बीवियां 94 बच्चे, और अभी भी परिवार बढ़ाने के ‘मूड’ में है ये शख्स, देखे : photos

39 बीवियां 94 बच्चे, और अभी भी परिवार बढ़ाने के ‘मूड’ में है ये शख्स, देखे : photos

इंटरनेट डेस्क। यह आपने कभी नही सुना होगा कि एक परिवार के सदस्यों की संख्या 162 हो सकती है। ..जी हाँ यह बिलकुल सही है, सुनकर चौंक गए क्या? इस परिवार देखने के लिए आपको कहीं दूर जाने की जरूरत नहीं, क्योंकि ऐसा परिवार कहीं और नहीं बल्कि हमारे देश में है। ऐसे संप्रदाय से ताल्लुक रखते हैं जियोना चाना, जो अपने सदस्यों को असीमित शादी की अनुमति देता है। जिओना की इतनी सारी पत्नियों की यही वजह है। इनके परिवार का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल है।

 

यहाँ पर रहता है दुनिया का सबसे बड़ा परिवार । ये परिवार है जियोना चाना का। जियोना 72 साल के हैं। इनकी 39 पत्नियां और 94 बच्चे हैं। इनकी सबसे पहले शादी वर्ष 1959 में हुई थी और अंतिम शादी 2004 में हुई। इनका घर भी कम बड़ा नहीं है। इसका घर 4 मंजिला है जिसमें 100 से भी ज्यादा कमरे हैं। इन्होंने अपने घर का नाम भी रखा है। इनके घर का नाम ‘छुआन थार रन’ है यानि ‘नई पीढ़ी का आवास’ है।

 

 

39 पत्नियों के पति जियोना इसे ईश्वर का वरदान मानते हैं और इतने बड़े परिवार के लिए अपने आप को किस्मत का धनी मानते हैं।

 

बुरी शक्तियों से बचना है तो इन चीजों से रहें दूर

बुरी शक्तियों से बचना है तो इन चीजों से रहें दूर

ज्योतिष डेस्क। वास्तुशास्त्र के मुताबिक अगर रास्ते में किसी भी प्रकार की अपवित्र वस्तु दिखाई देती है तो उससे दूर रहकर रास्ता पार करना चाहिए। पूजन और किसी भी विशेष काम में जाते वक्त पवित्रता बनी रहे और इस बात का पूरा ध्यान रखना चाहिए। जब यज्ञ-हवन जैसे पूजन कर्म पूर्ण हो जाते हैं तो उससे भस्म (राख) प्राप्त होती है। अगर रास्ते में ऐसी भस्म दिखाई दे तो इससे भी दूर होकर ही निकलना चाहिए। यज्ञ-हवन से प्राप्त भस्म पवित्र होती है और अगर इस पर पैर लगता है तो इसे अशुभ माना जाता है और वास्तुदोष उत्पन्न होता है।

 

 

कई बार ऐसा होता है कि किसी व्यक्ति के टूटे हुए केश यानी बाल रास्ते में दिखाई देते हैं। बालों को भी अपवित्र माना गया है। रास्ते में दिखाई देने वाले बालों से भी दूर होकर ही निकलना चाहिए। इन्हें लांघना भी नहीं चाहिए। अगर रास्ते में कहीं कांटें दिखाई देते हैं तो हमें दूर होकर निकलना चाहिए, अन्यथा पैरों में कांटें चुभ सकते हैं।

 

 

अगर संभव हो सके तो रास्ते से कांटें हटाने के प्रयास करना चाहिए, ताकि दूसरों को कांटों के कारण परेशानियों का सामना ना करना पड़े।अगर हम कहीं जा रहे हैं और रास्ते में किसी व्यक्ति के स्नान के बाद फैला हुआ पानी दिखाई दे रहा है तो उस पानी से दूर होकर रास्ता पार करना चाहिए। स्नान के बाद फैला हुआ पानी गंदा और अपवित्र होता है। इस पानी के संपर्क में आने से हमारी पवित्रता नष्ट हो जाती है।

 

लंबे बाल पाने के लिए अपनी डाइट में शामिल करें ये चीजे

लंबे बाल पाने के लिए अपनी डाइट में शामिल करें ये चीजे

लाइफस्टाइल डेस्क। हर लड़की की चाहत होती है कि उसके बाल घने और लंबे हो, आखिरकार इनकी खूबसूरती ही कुछ अलग होती हैं परन्तु हर लड़की इतनी खुशकिस्मत नहीं होती हैं कि उसके बाल लंबे हो। धूप, धूल, प्रदूषण, केमिकल्स और अनियमित खानपान ने आज झड़ते बालों की परेशानी को काफी आम बना दिया हैं और इसी कारण से ऐसे खूबसूरत बाल पाने एक मुश्किल काम बन गया हैं।

 

Related image

 

काले, घने बाल पाने के लिए आप बाजारों में मिलने वाले महँगे हेयर प्रोडक्ट्स का प्रयोग करने से भी पीछे नहीं हटती हैं लेकिन अब आपको और परेशान होने की आवश्यकता नहीं हैं। आप बिना खर्च किए बिना अपने लंबे बालों का सपना आसानी से पूरा कर सकती हैं। बस, आपको अपनी डाइट में कुछ जरूरी चीजों को शामिल करना होगा, तो चलिए आप भी जानिए उन जरूरी चीजों के बारे में जिनके सेवन से आप काले और घने, लंबे बाल पा सकती हैं।

 

(1) आयरन

बता दें कि इसकी कमी से आपकी बॉडी में रेड ब्लड सेल्स सही तरीके से नहीं बन पाते हैं। ये आपकी बॉडी सेल्स में ऑक्सीजन भेजने में सहायता करते हैं। जब इनकी कमी होती हैं तो इससे आपके स्कैलप और बॉडी को अच्छी तरह ऑक्सीजन नहीं मिल पाता हैं। इससे आपके बालों की ग्रोथ में रूकावट आती हैं इसलिए अपनी डाइट में रेड मीट, पालक, बीन्स, टमाटर, मसूर दाल एवं सीफूड इत्यादि को शामिल करें।

 

 

(2) प्रोटीन

हमारे बाल प्रोटीन फाइबर से बने होते हैं इसलिए जब इनकी कमी होती हैं तो ये टूटकर झड़ने लगते हैं। वहीं, प्रोटीन आपकी बॉडी में कैराटिन प्रोड्यूस्ड करता हैं जो आपके बालों को मजबूती देता हैं और उन्हें बढ़ने में मदद भी करता हैं इसलिए इसकी कमी पूरी करने के लिए अपनी डाइट में दाल, मछली, पनीर, दूध, अंडा, बीन्स व चिकन जैसी चीजों को जरूर शमिल करें।

Image result for डाइट में ड्राई फ्रूट्स, मछली, हरी सब्जियाँ, डार्क चॉकलेट, बीन्स, दाल

 

(3) मैग्नेशियम

ये आपके बालों को मजबूती देकर हेयर ग्रोथ में सहायता करता हैं। बता दें कि इसकी कमी से बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं। इतना ही नहीं, इसकी कमी से ब्लड सर्कुलेशन भी बेहतर तरीके से नहीं हो पाता हैं। इससे बालों की ग्रोथ में रूकावट आती हैं इसलिए इससे बचने के लिए अपनी डाइट में ड्राई फ्रूट्स, मछली, हरी सब्जियाँ, डार्क चॉकलेट, बीन्स, दाल एवं दही इत्यादि जैसी चीजों को शामिल करें।

 

 

Image result for बीन्स, नट्स, अंडा, पालक, शकरकंद आदि

 

(4) ज़िंक

इसकी बॉडी में कमी होने से बाल कमजोर होकर टूटने लगते हैं इसलिए अपनी डाइट में जिंक युक्त आहार जैसे – बीन्स, नट्स, अंडा, पालक, शकरकंद आदि।

जानिए नस पर नस चढ़ने की बीमारी से बचने के उपाय!

जानिए नस पर नस चढ़ने की बीमारी से बचने के उपाय!

हेल्थ डेस्क: आजकल हमारे शरीर में कई प्रकार की पेरशानिया आती रहती है क्योकि हम अपने खान पान पर ध्यान नहीं देते है। आज हम आपको एक ऐसी ही बीमारी के बारे में बताने जा रहे है जो बीमारी है नस पर नस चढ़ना। आपको बता दे की ये बीमारी किसी को भी हो सकती है। इस बीमारी से बेचने के लिए हमें हमारे रहने का तरीका सही रखना होगा।

नस पर नस चढ़ना बीमारी होने के कारण
शरीर में जल, रक्तमें सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम की कमी से मैग्नीशियम स्तर कम होने, पेशाब ज्यादा होने वाली डाययूरेटिक दवाओं जैसे लेसिक्स सेवन करने के कारण शरीर में जल, खनिज लवण की मात्रा कम होने , मधुमेह, अधिक शराब पीने से, किसी बिमारी के कारण कमजोरी, कम भोजन या पौष्टिक भोजन ना लेने से या नसों की कमजोरी आदि से नस पर नस चढ़ जाती है।

नस पर नस चढ़ना बीमारी होने के लक्षण
सोते समय यदि हाथ अथवा पैर सोने लगे या सोते हुए हाथ थोड़ा दबते ही सुन्न होने लगते हैं या कई बार एक हाथ सुन्न होता है, दूसरे हाथ से उसको उठाकर करवट बदलनी पड़ती है। हाथों की पकड़ ढीली होना, अथवा पैरों से सीढ़ी चढ़ते हुए घुटने से नीचे के हिस्सों में खिचांव आना। गर्दन के आस-पास के हिस्सों में ताकत की कमी महसूस देना आदि से नस पर नस चढ़ जाती है।

नस पर नस चढ़ने की बीमारी से बचने के उपाय
सोते समय पैरों के नीचे मोटा तकिया रखकर सोएं तथा पैरों को ऊंचाई पर रखें। प्रभाव वाले स्थान पर बर्फ की ठंडी सिकाई करे। सिकाई 15 मिनट, दिन में 3-4 बार करे। अगर गर्म-ठंडी सिकाई 3 से 5 मिनट की करें तो इस समस्या और दर्द दोनों से राहत मिलेगी।आहिस्ते से ऎंठन वाली पेशियों, तंतुओं पर खिंचाव दें, आहिस्ता से मालिश करें आदि उपाय से न पर नस नहीं चढ़ती है।

नस पर नस चढ़ने पर भोजन का रखे ख्याल 
भोजन में नीबू-पानी, नारियल-पानी, फलों, विशेषकर मौसमी, अनार, सेब, पपीता केला आदि शामिल करें। सब्जिओं में पालक, टमाटर, सलाद, फलियाँ, आलू, गाजर, चाकुँदर आदि का खूब सेवन करें। 2-3 अखरोट की गिरि, 2-5 पिस्ता, 5-10 बादाम की गिरि, 5-10 किशमिश का रोज़ रोज़ सेवन करें, तथा इसके अलावा हमें देशी खाने का उपयोग करना चाहिए।

दूसरे पक्षियों की तरह “चमगादड़” क्यों नहीं भर सकते ज़मीन से उड़ान, जानिए…

दूसरे पक्षियों की तरह “चमगादड़” क्यों नहीं भर सकते ज़मीन से उड़ान, जानिए…

इंटरनेट डेस्क। यह तो सब जानते है लेकिन ये कोई नहीं जनता कि चमगादड़ पेड़ पर उल्टा क्यों लटकते हैं। इसका कारण जानकर आप हैरान रह जायेंगे।

क्यों लटकते हैं चमगादड़ पेड़ पर उल्टा जानिए…

1. चमगादड़ उल्टा लटकर आसानी से उड़ान भर सकते हैं। वहीँ इनके पंख उड़ने में इनका ज्यादा साथ नहीं देते है। यही कारण है कि ये दूसरे पक्षी की तरह ज़मीन से उड़ान नहीं भर सकते है।

2. इनके पीछे के पैर छोटे भी होते हैं और अविकसित भी जिसके कारण ये दौड़ने में गति नहीं पकड़ पाता है। ये अँधेरी गुफा में दिनभर आराम करते हैं और रात में अपने खाने की तलाश में निकलते हैं।

3. चमगादड़ की करीब 1000 प्रजातियां पाई जाती हैं और ये दूसरे कीड़े मकोड़े का खून पीने में माहिर होते हैं। वहीँ उनमे एक पिशाच प्रजाति का चमगादड़ भी होता है जो पूरी तरह से खून पर निर्भर रहता है।

4. चमगादड़ों की सबसे बड़ी गुफा टेक्सास में है, जहां करीब दो करोड़ चमगादड़ रहते हैं। यह छोटी सी छोटी हरकत को भी आसानी से सुन सकते हैं।

5. इनकी दिल की गति सोते समय 18 बार प्रति मिनट होती है। वहीँ जागते हुए इनके दिल की गति 880 तक पहुंच जाती है।

 

411 views
loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top