अन्य

13 जनवरी : एक क्लिक पर पढि़ए आज की 5 रोचक खबरें

Friday, January 12, 2018 07:56:40 PM
13 जनवरी : एक क्लिक पर पढि़ए आज की 5 रोचक खबरें

1 . अगर करेंगे रोज मुलेठी का सेवन तो होंगे ये चमत्कारी फायदें!

अगर करेंगे रोज मुलेठी का सेवन तो होंगे ये चमत्कारी फायदें!

 हेल्थ डेस्क। आजकल वैसे तो कई ऐसी आयुर्वेदिक औषधियां मौजूद हैं जिनका इस्तेमाल करके आप कई बीमारियों ये बच सकते हैं लेकिन आज हम बात कर रहे हैं गुणों से भरपूर मुलेठी की। इसका इस्तेमाल श्वसन और पाचन क्रिया के रोग की आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने के लिए किया जाता है। आज आपको मुलेठी के कई ऐसे फायदों के बारें में बताने जा रहें हैं जिससे आप कई बीमारियों से दूर रह पाएंगे…

सर्दी-खांसी में आराम

10 ग्राम मुलेठी, 10 ग्राम काली मिर्च, 5 ग्राम लौंग, 5 ग्राम हरीतकी और 20 ग्राम मिश्री को मिलाकर 1 चम्मच शहद के साथ चाट लें। इसका सेवन कफ, सर्दी-खांसी और जुकाम समस्या को दूर करता है।

गले के रोग में आराम

गले की सूजन, इंफैक्शन, खराश, मुंह में छाले और गला बैठने पर मुलेठी का एक टुकड़ा लेकर उसे चूसे। इससे आपकी सभी प्रॉब्लम दूर हो जाएगी।

पेट रोग में फायदेंमंद

पेट और आंतों में ऐठन होने पर मुलेठी का चूर्ण शहद के साथ दिन में 2-3 बार लें। पेट दर्द, सूजन, ऐंठन, आंतो में कीड़े के रोग दूर हो जाएगी।

अल्सर के रोग में लाभकारी

अल्सर की समस्या को दूर करने के लिए 4 ग्राम मुलेठी पाउडर को दूध में मिलाकर पीएं। इसके अलावा दिन में 2-3 बार शहद के साथ इसका सेवन भी अल्सर की बीमारी को दूर करने में मदद करता है।

हार्ट संबंधी बीमारियों में फायदेंमंद

4 ग्राम मुलेठी को देसी घी और शहद में मिलाकर रोजाना खाने से दिल के रोग और हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है।

2 . इस गांव में शादी के बाद दुल्हन रहती हैं 5 दिनों तक बिना कपड़ों के…

इस गांव में शादी के बाद दुल्हन रहती हैं 5 दिनों तक बिना कपड़ों के…

 रोचक डेस्क। दुनियाभर में अजीबोगरीब परपंराए और प्रथाएं निभाई जाती हैं लेकिन आज हम बात कर रहे हैं भारत की ऐसी जगह की जहां की एक ऐसी परंपरा हैं जिसके बारें में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। भारत के इस गांव में एक ऐसी परंपरा हैं जिसके चलते शादी के बाद दुल्हन को 5 दिनों तक बिना कपड़ों के रखा जाता हैं।

ये परंपरा हैं हिमाचल प्रदेश की। जहां इस परंपरा के रहते पति-पत्नि आपस में हंसी मजाक तक नहीं करते और पत्नि को 5 दिन तक निर्वस्त्र रखा जाता है। इन दिनों में महिलाए सिर्फ ऊन से बने पट्टू ही पहनती है।

सावन के 5 दिनों में भी पति-पत्नि को एक-दूसरे से दूर रखा जाता है। लोगों का मानना है कि ऐसा न करने से देवता बुरा मान जाएगें और गांव में तबाही आ जाएगी। सर्दियों से चलती आ रही इस देव प्रथा को लोग डर और आस्था की वजह से मानते है।

3 . अपने ही दामाद को शुक्राचार्य ने दे डाला ये श्राप और फिर…

अपने ही दामाद को शुक्राचार्य ने दे डाला ये श्राप और फिर…

 धर्म डेस्क: नहुषा राजे के पुत्र ययाति ने शंकराचार्य की बेटी देवयानी से विवाह किया और फिर राजा भी बने गए थे, शादी से पहले शुक्राचार्य ने सख्त हिदायत दी थी की मेरी बेटी के अलावा किसी से सम्बन्ध नही रखोगे। दोनों का जीवन सुखमय था, लेकिन देवयानी की दासी शर्मिष्ठा जो दानव वंश से थी इतनी सुन्दर थी जिसकी वजह से ययाति उस पे रीझे हुए थे, एक बार जब शर्मिष्ठा कुए में गिर गई तो उसे कुए से बाहर निकाल कर अपने प्रेम का इजहार ययाति ने उससे कर दिया।

आपको बता दे की शुक्राचार्य की वजह से दोनों खुलकर सामने न आ सके, ऐसी स्तिथि में ययाति ने छुपकर शर्मिष्ठा से विवाह कर लिया। देवयानी ने एक दिन दोनों को प्रेमालाप करते हुए देख लिया। तब अपने पिता से उसने शिकायत की और ययाति को पिता शुक्राचार्य ने तुरंत बूढ़े होने का श्राप दे दिया, लेकिन इसके बाद जब ययाति ने कहा कि इसका असर देवयानी पर भी पड़ेगा।

उल्लेखनीय है की ऊके बाद शुक्राचार्य ने कहा की अगर तुम्हे कोई अपनी जवानी दे दे तो तुम उसे भोग सकते हो अन्यथा ऐसे ही रहोगे। आपको बता दे की ययाति के पांच पुत्र थे, उसने जब अपने चार बड़े पुत्रो से पूछा तो उन्होंने साफ मना कर दिया। जब छोटे बेटे पुरू ने अपने बाप का दर्द सुना तो उसने अपनी अपने बाप को जवानी दे दी।

आपको बता दे की यह सब कुछ होने के बाद ययाति ने अपने चारों बेटों को राज्य से बेदखल कर दिया और उनको श्राप देते हुए कहा की तुम और तुम्हारे वंशज अपने बाप के बनाए राज में राज नही कर सकोगे। पुरू को उस राज्य का राजा बनाया गया और इसी पुरू के नाम से आगे जाके पुरू वंश कहलाया और बाकि चारो भाइयों का वंश यदुवंश कहलाया।

4 . आखिर क्यों यहां शादी के बाद पिता थूकता हैं बेटी के सिर पर!

आखिर क्यों यहां शादी के बाद पिता थूकता हैं बेटी के सिर पर!

इंटरनेट डेस्क। दुनियाभर में अलग-अलग देशों में भिन्न-भिन्न परंपराएं निभाई जाती हैं। लेकिन कई परंपराएं ऐसी भी है जिनके बारें में जानकर आप चौंक जाएंगे। आज आपको एक ऐसी ही परंपरा के बारें में बताने जा रहे हैं जहां शादी के बाद लडक़ी का पिता अपनी बेटी के सिर पर थूकता हैं। जी हां, हम बात कर रहें हैं केन्या और तंजानिया में पायी जाने वाली मसाई जनजाति की।

यहां एक परम्परा है जिसमें शादी वाले दिन पिता अपनी बेटी के सिर पर थूकता है। ये इनका आर्शीवाद देने का एक नायाब तरीका है। इनका मानना है कि पिता बेटी को इस तरह आर्शीवाद देता है।

इतना ही नहीं शादी के बाद दुल्हन अपना घर छोडऩे के बाद फिर कभी अपने मायके नही आती है। इनका मानना है कि ऐसा करने से लडक़ी पत्थर बन जाती है। वही लडक़ी के ससुराल पहुचने के बाद उसके बैड लक को दूर करने के लिए उसकी बहुत बेइज्जती की जाती है।

5 . युवक की हत्या कर लाश जलाने के मामले में इंस्पेक्टर सहित छह लाइन हाजिर

युवक की हत्या कर लाश जलाने के मामले में इंस्पेक्टर सहित छह लाइन हाजिर

जयपुर। राजस्थान में जयपुर के शिप्रा पथ थाने के नजदीक खाली भूखंड पर कल रात एक युवक की हत्या कर लाश जला देने के मामले में पुलिस कमिश्नर ने थाने के प्रभारी सहित छह पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया है।

सूत्रों के अनुसार कल रात थाने के पास खाली भूखंड में एक व्यक्ति की हत्या कर शव को जला दिया गया था जिसकी भनक तक पुलिस को नहीं लगी और आज सुबह भी किसी राहगीर ने अधजले शव की सूचना पुलिस थाने में दी तो पुलिस मौके पर पहुंची।

इस मामले में थाना स्टाफ की बड़ी लापरवाही को कमिश्नर संजय अग्रवाल ने गंभीरता से लिया और थाना प्रभारी संजय गोदारा सहित छह पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया। गोदारा के साथ लाइन हाजिर किए गए कांस्टेबलों में दिनेश कुमार, सुरेश, योगराज, जयकृष्ण और शैतान सिंह शामिल है।

356 views
loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine + five =

To Top