लाईफस्टाइल

गणेश चतुर्थी 2018: भगवान गणेश को खुश करने के लिए करें इन मंत्रों का जाप

Tuesday, September 11, 2018 04:16:35 PM
गणेश चतुर्थी 2018: भगवान गणेश को खुश करने के लिए करें इन मंत्रों का जाप

इंटरनेट डेस्क। भगवान गणेश स्वयं रिद्धि-सिद्धि के दाता और शुभ-लाभ के प्रदाता हैं। वह भक्तों की सभी बाधा, संकट, रोग-दोष तथा दरिद्रता को दूर करते हैं। जब भी किसी शुभ कार्य की शुरुआत की जाती है तो सबसे पहले भगवान गणेश की स्थापना कर उनकी पूजा-अर्चना की जाती है। कुछ मंत्र ऐसे हैं जिनका जाप करने से जातक को बुद्धि और धन-संपदा की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं इन खास मंत्रों के बारे में विस्तार से

Image result for भगवान गणेश

किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले करें इस मंत्र का जाप :-

ऊँ वक्रतुण्ड़ महाकाय सूर्य कोटि समप्रभ।

निर्विघ्नं कुरू मे देव, सर्व कार्येषु सर्वदा।।

Image result for भगवान गणेश

भगवान गणेश को खुश करने के लिए करें इस मंत्र का जाप :-

ऊँ एकदन्ताय विहे वक्रतुण्डाय धीमहि तन्नो दन्ति: प्रचोदयात्।

विद्या और बुद्धि प्राप्त करने के लिए करें इस मंत्र का जाप :-

श्री गणेश बीज मंत्र ऊँ गं गणपतये नम: ।।

Image result for भगवान गणेश

सिद्धियां प्राप्त करने के लिए करें इस मंत्र का जाप :-

एकदंताय विद्महे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात्।।

महाकर्णाय विद्महे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात्।।

गजाननाय विद्महे, वक्रतुण्डाय धीमहि, तन्नो दंती प्रचोदयात्।।

गणेश कुबेर मंत्र :-

ॐ नमो गणपतये कुबेर येकद्रिको फट् स्वाहा।

संकटनाशक गणेश स्तोत्र :-

प्रणम्य शिरसा देवं गौरीपुत्र विनायकम् ।

भक्तावासं स्मरेन्नित्यायुष्कामार्थसिद्धये ॥1॥

प्रथमं वक्रतुण्डं च एकदन्तं द्वितीयकम् ।

तृतीयं कृष्णपिङ्गाक्षं गजवक्त्रं चतुर्थकम् ॥2॥

लम्बोदरं पञ्चमं च षष्ठं विकटमेव च ।

सप्तमं विघ्नराजं च धूम्रवर्ण तथाष्टमम् ॥3॥

नवमं भालचन्द्रं च दशमं तु विनायकम् ।

एकादशं गणपतिं द्वादशं तु गजाननम् ॥4॥

द्वादशैतानि नामानि त्रिसन्ध्यं य: पठेन्नर: ।

न च विघ्नभयं तस्य सर्वसिद्धिश्च जायते ॥5॥

विद्यार्थी लभते विद्यां धनार्थी लभते धनम् ।

पुत्रार्थी लभते पुत्रान्मोक्षार्थी लभते गतिम् ॥6॥

जपेद् गणपतिस्तोत्रं षड्भिर्मासै: फलं लभेत् ।

संवत्सरेण सिद्धिं च लभते नात्र संशय: ॥7॥

अष्टाभ्यो ब्राह्मणेभ्यश्च लिखित्वा य: समर्पयेत् ।

तस्य विद्या भवेत्सर्वा गणेशस्य प्रसादत: ॥8॥

 

Source: Google

933 views
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 3 =

To Top