हेल्थ

क्या आप जानते है इन फलों से होने वाले फायदों के बारे में…

Tuesday, December 5, 2017 01:20:44 PM
क्या आप जानते है इन फलों से होने वाले फायदों के बारे में…

हेल्थ डेस्क: हम अपनी हेल्थ को सही रखने के लिए कई तरह के घेरलू उपाय अपनाते है। लेकिन ये उपाय कभी तो हमारे लिए सही साबित हो जाते है। लेकिन कई बार ऐसा भी हो जाता है की हमें ये उपाय महंगे पड़ जाते है। हमारे अगर कोई बीमारी थोड़ी सी होती है तो भी कई औषधियां ऐसी होती है जिनको हमारा शरीर झेल नहीं पाता है और उलटी हमें पेरशानी हो जाती है।

पपीता:-
पपीता कच्ची अवस्था में यह हरे रंग का होता है और पकने पर पीले रंग का हो जाता है। इसके कच्चे और पके फल दोनों ही उपयोग में आते हैं। कच्चे फलों की सब्जी बनती है। इन कारणों से घर के पास लगाने के लिये यह बहुत उत्तम फल है। इसके कच्चे फलों से दूध भी निकाला जाता है, जिससे पपेइन तैयार किया जाता है। पपेइन से पाचन संबंधी औषधियाँ बनाई जाती हैं।

आम:-
आम को भारत में फलों का राजा बोलते हैं। इसकी मूल प्रजाति को भारतीय आम कहते हैं, जिसका वैज्ञानिक नाम मेंगीफेरा इंडिका है। आमों की प्रजाति को मेंगीफेरा कहा जाता है। इस फल की प्रजाति पहले केवल भारतीय उपमहाद्वीप में मिलती थी, इसके बाद धीरे धीरे अन्य देशों में फैलने लगी। इसका सबसे अधिक उत्पादन भारत में होता है। लोग इसे मांगा भी बोलते थे।

सेब:-
सेब का रंग लाल या हरा होता है। वैज्ञानिक भाषा में इसे मलुस डोमेस्टिकाकहते हैं। इसका मुख्यतः स्थान मध्य एशिया है। इसके अलावा बाद में यह यूरोप में भी उगाया जाने लगा। यह हजारों वर्षों से एशिया और यूरोप में उगाया जाता रहा है। इसे एशिया और यूरोप से उत्तरी अमेरिका बेचा जाता है। इसका ग्रीक और यूरोप में धार्मिक महत्व है। सेब में मे विटामिन भी होते हैं।

अनार:-
अनार लाल रंग का होता है। इसमें सैकड़ों लाल रंग के छोटे पर रसीले दाने होते हैं। अनार दुनिया के गर्म प्रदेशों में पाया जाता है। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह एक महत्त्वपूर्ण फल है। भारत में अनार के पेड़ अधिकतर महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और गुजरात में पाए जाते हैं। सबसे पहले अनार के बारे में रोमन भाषियों ने पता लगाया था।

779 views
loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top