क्राइम न्यूज़

प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने उजड़ी अपनी मांग

Tuesday, October 9, 2018 07:42:36 PM
प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने उजड़ी अपनी मांग

क्राइम डेस्क। देशभर में लगातार बढ़ रहे अपराध और हत्या की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही है और एक ऐसी दिल दहला देने वाला मामला मध्यप्रदेश के खरगोन जिले में सामने आया है। यहां एक फैक्ट्री कमर्चरी की हत्या करने का मामला सामने आया है। यहां एक फैक्ट्री कर्मचारी को उसकी ही पत्नी और उसके प्रेमी ने मिलकर मौत के घाट उतार दिया। मामला जिले के सनावद थाना इलाके का बताया जा रहा है। उधर मामला पुलिस के सामने आने के बाद पुलिस ने अपनी जांच शुरू की और कार्रवाई करते हुए आरोपी पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार जिले में सनावद पुलिस ने करीब एक माह पूर्व हुई फैक्ट्री कर्मचारी की हत्या के मामले में उसकी पत्नी और प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के अनुसार मामले को लेकर पुलिस ने बताया है कि धार जिले के पीथमपुर निवासी 32 वर्षीय लाल बहादुर विश्वकर्मा की हत्या के आरोप में उसकी पत्नी किरण तथा प्रेमी ट्रक ड्राइवर रजनीश गौतम को गिरफ्तार कर सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से किरण को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया, जबकि रजनीश का 2 दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है।

Image result for shav

पुलिस ने बताया कि इंदौर इच्छापुर मार्ग पर ग्राम बसवा के समीप 27 अगस्त को एक व्यक्ति की सिर कुचली हुई लाश मिली थी। घटना की जांच में पाया गया कि वह व्यक्ति पीथमपुर की एक फैक्ट्री में काम करने वाला लाल बहादुर विश्वकर्मा है। उसकी पत्नी किरण से पूछताछ करने पर घटना का खुलासा हुआ है। पत्नी ने बताया है कि रजनीश अक्सर उसके पीथमपुर स्थित घर आता था और उसके उससे शारीरिक संबंध स्थापित हो गए थे। उसके पति द्वारा शंका जाहिर किए जाने पर उन दोनों में आए दिन विवाद होता रहता था। गत रक्षाबंधन को उसके पति ने रजनीश को फोन कर अपने घर बुलाया तथा किरण को उसे राखी बांधने के लिए कहा। इस पर किरण ने उसे राखी न बांधते हुए अपनी बच्ची से उसकी कलाई पर राखी बंधवा दी, इससे लाल बहादुर का शक और गहरा गया और दोनों में पुन: विवाद हुआ। दोनों के प्रेम संबंध उजागर हो जाने के चलते किरण ने रजनीश के साथ मिलकर घर मे सो रहे लाल बहादुर की गला दबाकर हत्या कर दी तथा ट्रक से सनावद थाना क्षेत्र में लाकर ट्रक से उसका सिर कुचल दिया था, ताकि उसकी शिनाख्त ना हो सके।

215 views
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 13 =

To Top