ज्योतिष & धर्म

आखिर क्यों लगाया जाता है मस्तक पर तिलक?

Monday, December 4, 2017 08:18:15 PM
आखिर क्यों लगाया जाता है मस्तक पर तिलक?

ज्योतिष डेस्क: हमारे देश में धर्म और ज्योतिष को बहुत ही जयदा महत्व देते है। कुछ लोग ज्योतिष के चकरो में पड़कर अपनी सारा धन दौलत खो देते है। लेकिन कुछ ज्योतिष अच्छे भी होते है जो इंसान को सही मार्ग दिखा देते है। आपको बता दे की विश्व में से सबसे ज्यादा हमारे देश के लोग ज्योतिष, धर्म व भगवान को पूजते है। हमारे यहाँ पर स्थानीय देवता भी होते है।

मस्तक पर तिलक लगाने की परंपरा हिंदू संस्कृति में बरसों से चली आ रही है। हर छोटे-बड़े धार्मिक कार्यक्रम में माथे पर तिलक लगाया जाता है। दरअसल तिलक लगाना परंपरा का तो हिस्सा है ही लेकिन इसका वैज्ञानिक महत्व भी बताया गया है। मस्तिष्क के मध्य जिस स्थान पर तिलक लगाया जाता है उसे आज्ञाचक्र कहा जाता है। ज्योतिष में इसे बृहस्पति का केंद्र माना गया है।

आइये जानते है मस्तक पर तिलक लगाने का महत्व-

सफलता पाने के लिए रोली, हल्दी, चन्दन या फिर कुमकुम का तिलक लगाने की प्रथा है। नए कार्य के लिए जाते वक्त काली हल्दी का टीका लगाना चाहिए। इससे आप काम में सफल होंगे। जो जातक तिलक के ऊपर चावल लगाता है लक्ष्मी उस जातक के आकर्षण में बंध जाती है और सदा उसके अंग-संग रहती हैं।

जो प्रतिदिन चंदन का तिलक लगाते हैं उनका घर-आंगन अन्न-धन से भरा रहता है। प्रत्येक उंगली से तिलक लगाने का अपना-अपना महत्व है जैसे मोक्ष की इच्छा रखने वाले को अंगूठे से तिलक लगाना चाहिए, शत्रु नाश करना चाहते हैं तो तर्जनी से, धनवान बनने की इच्छा है तो मध्यमा से और सुख-शान्ति चाहते हैं तो अनामिका से तिलक लगाएं। देवताओं को मध्यमा उंगली से तिलक लगाया जाता है।

1,667 views
loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top