ज्योतिष & धर्म

ये तीन रत्न है बहुत फायेदेमंद व चमत्कारी, जानिए इनकी खासियत

Thursday, January 11, 2018 02:26:33 PM
ये तीन रत्न है बहुत फायेदेमंद व चमत्कारी, जानिए इनकी खासियत

ज्योतिष डेस्क: नौ रत्न ज्योतिष शास्त्र में शामिल हैं लेकिन कुछ इनके साथ ही बहुत खास रत्न भी शामिल हैं। काफी शोध करने के बाद इन रत्नों को शामिल किया गया है। ये रत्न बहुत चमत्कारी हैं जो कि कई ग्रहों को प्रभावित भी करते हैं। खास तौर पर इनके उपयोग के कारण किसी भी व्यक्ति को नुकसान नहीं होता है। इन रत्नों की कीमत भी ज्यादा नहीं है। ये रत्न कई विशेष परिस्थितियों में बहुत फायदेमंद होते हैं।

ओपल:-
यह एक बहुत प्रभावी रत्न है। यह रत्न कई कई रंगों में पाया जाता हैं लेकिन सफेद या हल्के नीले रंग का ओपल बेहद फायदेमंद रहता है। तीन ग्रहों को प्रभावित करने के साथ ही यह सीधे जल तत्व को भी प्रभावित करता है। ओपल कर्क राशि के लोगों के लिए बेहद फायदेमंद है। यह रत्न भावनाओं को नियंत्रित करने और मन को संतुलित करने के लिए काफी उपयोगी है। तुला और वृषभ राशि के लोगों को भी ये रत्न पहनना चाहिए। इस रत्न को पहनकर शुक्र ग्रह को मजबूत किया जा सकता है। यह रत्न पहनना जीवनसाथियों के बीच सामंजस्य पैदा करता है। इसकी सहायता से प्रेम संबंधों को मजबूत किया जा सकता है। यह रत्न आपकी प्रसिद्धि को बढ़ाता है। ओपल रत्न को मोती के विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

पैरिडॉट:-
यह एक चमकदार हरे रंग का रत्न है। यह रत्न दो ग्रहों को नियंत्रित कर सकता है। यह ज्ञान और बुद्धि प्राप्त करने के लिए शक्तिशाली रत्न है। मिथुन और कन्या राशि के लोगों के लिए यह रत्न बेहद फायदेमंद है। बुरी आदतों से छुटकारा पाने के लिए यह रत्न बेहद उपयोगी है। यह आपको अच्छा भाषण कौशल और आकर्षण देता है। इस रत्न से शारीरिक ऊर्जा बढ़ जाती है और घबराहट घट जाती है। यह आपको दुखी भावनाओं से राहत देता है और रोगों और चोटों से बचाता है। पैरिडॉट क्रोध को कम करते हुए आपकी हर इच्छा को पूरा करता है।

लाजवर्त:-
यह एक नीले रंग का रत्न है। इसमें थोड़ी बहुत मात्रा सुनहरे रंग की भी होती है। यह रत्न दो शक्तिशाली ग्रहों को नियंत्रित करता है। लाजवर्त रत्न हमें चोटों से बचाता है। भय को दूर करने के लिए यह फायदेमंद रत्न है। आप इसे आध्यात्मिक लाभों के लिए पहन सकते हैं। यह रत्न जितना अधिक नीला होगा, यह उतना ही अधिक प्रभावी होगा।

767 views
loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen + four =

To Top