ज्योतिष & धर्म

जानिए शादी में क्यों होती है देरी, बताते है ये संकेत!

Saturday, April 14, 2018 12:30:00 PM
जानिए शादी में क्यों होती है देरी, बताते है ये संकेत!

ज्योतिष डेस्क। अक्सर हम लोग और समाज में बहुत बार देखते है कि कुछ लोग सुयोग्य होते है और वो शादी करने के लिए खूब कोशिश करते है। परन्तु हर बार उनकी शादी में कोई न कोई बाधा आ जाती है। इससे ना केवल लडक़ा या लडक़ी परेशान रहते हैं बल्कि उनका पूरा परिवार ही परेशान रहता है। इस संबंध में ज्योतिष की मान्यता है कि यदि किसी विवाह योग्य लडके या लडकी की कुंडली में कुछ विशेष दोष होते हैं, उनकी शादी में समस्याएं आती हैं। आइए जानते है उन दोषों के बारे में…

Image result for hindu marriage

ज्योतिष में कुंडली का बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि कुंडली के ग्रह यदि सही तरीके से काम करें तो आपकी जिदंगी सही रहती है। ऐसे में यदि शादी के समय कुंडली में चंद्र से सप्तम भाव में गुरु हो तो शादी देर से होती है। यही बात चंद्र की राशि कर्क से भी मानी जाती है।

Image result for hindu marriage kundli

कुंडली का चौथे भाव या लग्न भाव में मंगल हो, सप्तम भाव में शनि हो तो महिला की रुचि शादी में नहीं होती है। जातक के सप्तम भाव में बुध और शुक्र दोनों हो तो विवाह के लिए बातें चलती रहती हैं, परन्तु विवाह देरी से होता है।

Image result for hindu marriage kundli

जिन लोगों की कुंडली के सप्तम भाव में शनि और गुरु होते हैं, उनकी शादी देर से होती है। राहु की दशा में शादी हो, या राहु सप्तम को पीडि़त कर रहा हो, तो शादी होकर टूट जाती है, यह सब बाते दिमाग चलती रहती है। सूर्य, मंगल और बुध लग्न भाव में हो और गुरु बारहवें भाव में हो तो व्यक्ति आध्यात्मिक होता है और इस वजह से उसके विवाह में देरी होती है।

Image result for hindu marriage

लग्न भाव में, सप्तम में और बारहवें भाव में गुरु या कोई शुभ ग्रह योग नहीं हो और चंद्र कमजोर हो तो विवाह देर से होता है। कुंडली के सप्तम भाव में कोई शुभ ग्रह योग नहीं हो तो विवाह में देरी होती है महिला की कुंडली में सप्तम भाव का स्वामी या सप्तम भाव शनि से पीडि़त हो तो विवाह देर से होता है।

 

Source: Google

1,767 views
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − one =

To Top