ज्योतिष & धर्म

अगर आपके हाथों में ये रेखाएं, तो जल्द बन जायेंगे अमीर

Tuesday, April 17, 2018 01:48:45 PM
अगर आपके हाथों में ये रेखाएं, तो जल्द बन जायेंगे अमीर

ज्योतिष डेस्क। मनुष्य केे कर्म के साथ उसकी किस्मत भी उसे बुलंदियों पर ले जाने के लिए खास होती है। समुद्रशास्त्रों की माने तो लोगों के हाथ पर बनी रेखाओं से उनके भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में पता लगाया जा सकता है। हर किसी की हथेली पर मुख्य रूप से तीन रेखाएं दिखाई आती हैं। इसमें अगूठे की तरह से पहली जीवन रेखा, दूसरी मस्तिष्क रेखा और तीसरी ह्रदय रेखा कही जाती है। ज्योतिषयों का कहना है कि हथेली में इन रेखाओं को जब दूसरी रेखा काटते हुए आगे निकले तो इसका भी मतलब होता है।

Image result for जीवन रेखा

जीनव रेखा से जुडे रोचक बातें
हस्तरेखा ज्योतिष के मुताबिक जीवन रेखा के नजदीक कई रेखाएं होती है। कहा जाता है कि यदि जीवन रेखा के बीच कई रेखाएं काटते हुए निकल जाए तो ऐसे व्यक्ति को अपना जीवन कई तरह की बीमारियों का सामना करते हुए काटना पड़ता है। वहीं कहा जाता है कि जीवन रेखा के आकार और लंबाई से व्यक्ति की उम्र का अनुमान लगाया जा सकता है। जीवन रेखा की लकीरें यदि पतली, लंबी और गहरी हो तो यह अच्छी मानी जाती है। गहरी जीवन रेखा वाले लोगों में चौडी रेखा वाले लोगों की अपेक्षा किसी बीमारी या मुसीबत का सामना करने की अधिक क्षमता होती है।

Image result for जीवन रेखा

लंबी यात्राएं करते हैं ऐसे लोग
अगर किसी इंसान की रेखा चंद्र क्षेत्र से निकलकर पूरी हथेली को पार करते हुए गुरु पर्वत तक पहुंचती हो तो जातक को विदेश की कई यात्राएं करनी पड़ सकती हैं। यदि किसी स्त्री या पुरुष जातक की हथेली में चंद्र पर्वत से यात्रा रेखा निकलकर स्पष्ट रूप से हृदय रेखा में जाकर मिल जाए तो उस जातक को यात्रा के दौरान ही प्रेम संबंध अथवा प्रेम विवाह होने की पूर्ण संभावना होती है।

Image result for चंद्र पर्वत रेखा

चंद्र पर्वत
ज्योतिषिय जानकारों के अनुसार अगर चंद्र पर्वत से निकलकर कोई रेखा बुध क्षेत्र तक अथवा बुध पर्वत पर पहुंचती हो तो जातक को यात्रा के दौरान आकस्मिक धन की प्राप्ति होती है। वहीं अगर चंद्र पर्वत से यात्रा रेखा हथेली के मध्य में से ही अथवा मुडक़र वापस चंद्र पर्वत पर आए तो जातक को विदेश में व्यापार अथवा नौकरी की खातिर कई साल व्यतीत करने के बाद मजबूरन स्वदेश वापस लौटना पडता है।

Related image

बेरोजगारी बढ़ती है ऐसे लोगों की
चंद्र पर्वत से निकलकर कोई रेखा पर अगर कोई क्रास हो तथा उसके समीप चतुष्कोण भी हो तो अक्सर यात्रा का तयशुदा कार्यक्रम अकस्मात स्थगित करना पड़ता है। चंद्र पर्वत से निकलकर कोई यात्रा रेखा मस्तिष्क रेखा से मिल जाए तो जातक को यात्रा में कोई व्यवसायिक समझौता अथवा बौद्धिक कार्यों का अनुबंध करना पड़ता है।

Source: Google

1,377 views
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve − 2 =

To Top